This Article is From Dec 24, 2020

Paytm का घाटा 2019-20 में कम होकर 2,942.3 करोड़ रुपये रहा

वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनी पेटीएम (Paytm) का परिचालन करने वाली वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड का घाटा मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष में कम होकर 2,942.36 करोड़ रुपये रहा.

Paytm का घाटा 2019-20 में कम होकर 2,942.3 करोड़ रुपये रहा

2019-20 में Paytm के घाटे में कमी आई. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनी पेटीएम (Paytm) का परिचालन करने वाली वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड का घाटा मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष में कम होकर 2,942.36 करोड़ रुपये रहा. कंपनी पंजीयक के पास दी गयी जानकारी के अनुसार, पिछले वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी को 4,217.2 करोड़ रुपये का एकीकृत घाटा हुआ था.

कंपनियों के बारे में सूचना देने वाली टोफलर ने यह जानकारी दी. पेटीएम की एकीकृत कुल आय 1.3 प्रतिशत बढ़कर 3,628.85 करोड़ रुपये रही. एक साल पहले मार्च 2019 को समाप्त तिमाही में यह 3,579.67 करोड़ रुपये थी.

बता दें कि हाल ही में पेटीएम ने दुकानदारों (व्यापारियों) के लेन-देन शुल्क (MDR) का वहन खुद करने की घोषणा की. कंपनी ने कहा कि वह व्यापारियों के बदले एमडीआर शुल्क के करीब 600 करोड़ रुपये का वहन खुद करेगी. कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस कदम से व्यापारी पेटीएम ऑल इन वन क्यूआर, पेटीएम साउंडबॉक्स और पेटीएम ऑल इन वन एंड्रॉयड पीओएस से बिना शुल्क दिये भुगतान की सुविधा ले सकते हैं. इससे इन व्यापारियों के पास कारोबार बढ़ाने के लिये पर्याप्त नकदी होना सुनिश्चित होगा.

कंपनी ने कहा कि व्यापारी अब यह भी तय कर सकेंगे कि उन्हें ग्राहकों से भुगतान साीधे बैंक खाते में लेना है या पेटीएम वॉलेट में. पेटीएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुमार आदित्य ने कहा कि इससे सूक्ष्म, लघु एवं मझौले उद्यमों (एमएसएमई) को फायदा होने वाला है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
.