सार्क देशों में अधिक व्यापार, निवेश की दरकार : नीति आयोग

अमिताभ कांत ने कहा कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र दुनिया में सबसे कम समेकित क्षेत्र है जहां वास्तव में कोई अंतर-क्षेत्रीय व्यापार नहीं है. 

सार्क देशों में अधिक व्यापार, निवेश की दरकार : नीति आयोग

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत.

नई दिल्ली:

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) में शामिल देशों के बीच ज्यादा समेकन की जरूरत बताते हुए कहा कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र में जब तक अधिक व्यापार, निवेश और पर्यटन नहीं होगा तब तक पिछड़ा रहेगा. अमिताभ कांत ने कहा कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र दुनिया में सबसे कम समेकित क्षेत्र है जहां वास्तव में कोई अंतर-क्षेत्रीय व्यापार नहीं है. 

कांत ने कहा कि एक तरफ भारत में अन्य देशों से 97 फीसदी पर्यटक आते हैं वहीं अधिकांश भारतीय पर्यटक भी दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र जाते हैं. 

सार्क विकास कोश (एसडीएफ) साझेदारी संगोष्ठी में उन्होंने कहा, "भारतीय पर्यटक मलेशिया, सिंगापुर और थाइलैंड क्यों जाते हैं? वे भूटान, अफगानिस्तान या पाकिस्तान क्यों नहीं जाते हैं? हमें एक दूसरे देश की यात्रा करनी चाहिए. हमने राजनीतिक रूप से स्थिति को इतना दुरुह बना दिया है कि हम इस सबसे (अंतर-क्षेत्रीय पर्यटन) लाभ उठाने में सक्षम नहीं हैं."

उन्होंने कहा, "अगर आप दुनियाभर में नजर डालें तो अधिकांश व्यापार, निवेश और पर्यटन अंतर-क्षेत्रीय होता है. इसलिए अधिकांश संवृद्धि उन्हीं क्षेत्रों में होती है और अंतर-क्षेत्रीय कार्यो से गरीबी दूर हुई है. अगर आप अमेरिका और यूरोप को देखें तो यह पूरी तरह अंतर-क्षेत्रीय है."



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
More News