खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में 2018-19 में पैदा होंगे चार लाख नये रोजगार: हरसिमरत कौर

देश में 15 नये मेगा फूड पार्क परिचालन में आने के साथ ही रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. 

खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में 2018-19 में पैदा होंगे चार लाख नये रोजगार: हरसिमरत कौर

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर.

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि पिछले चार साल में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में 3.85 लाख रोजगार सृजित हुए हैं और चालू वित्त वर्ष के अंत तक 4 लाख और रोजगार पैदा होंगे. देश में 15 नये मेगा फूड पार्क परिचालन में आने के साथ ही रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना के तहत मंजूर 122 परियोजनाओं के परिचालन में आने के साथ 3.4 लाख प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रोजगार सृजित होंगे. कई घरेलू और वैश्विक कंपनियों ने इस उभरते क्षेत्र में निवेश की प्रतिबद्धता जतायी है, इससे और रास्ते खुलेंगे. 

हरसिमरत ने कहा कि क्षेत्र को गति मिलेगी क्योंकि सरकार खाद्य प्रसंस्करण परियोजनाओं के वित्त पोषण के लिये जल्दी ही निजी क्षेत्र के साथ मिलकर गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी गठित करेगी. 

अपने मंत्रालय की चार साल की उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए हरसिमरत ने कहा, ‘‘कांग्रेस के 2008 से 2014 के दौरान किये गये कार्यों की तुलना करें तो सरकार के पिछले चार साल में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र का पूरी तरह से रूपांतरण हुआ है. कांग्रेस के शासन में इसकी पूरी तरह उपेक्षा हुई थी.’’

उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में 1,00,000 करोड़ रुपये के निवेश प्रतिबद्धता जतायी गयी. इसमें से 73,000 करोड़ रुपये मूल्य के निवेश हकीकत रूप ले रहे हैं. मंत्री ने कहा कि यह केवल एक शुरूआत है. आने वाले वर्ष में इसकी वास्तविक संभावना देखने को मिलेगी. उन्होंने कहा कि सरकार ‘आपरेशन ग्रीन’ योजना की मसौदा नीति को लेकर तैयार है. इसे अगले महीने शुरू किया जाएगा. 

इस योजना के तहत प्रमुख उत्पादक क्षेत्रों में टमाटर, प्याज तथा आलू के उत्पादन को बढ़ावा देने तथा विपणन के लिये किसानों के समूह को संकुल बनाने के लिये प्रोत्साहित किया जाएगा.