भारत में होगी IPhone XR की असेंबलिंग, कंपनी करेगी 2,000 करोड़ रुपये निवेश

एप्पल को आईफोन के चार्जर की आपूर्ति करने वाली सालकॉम्प ने चेन्नई के समीप सेज में नोकिया की बंद पड़े कारखाना को लेने के लिये समझौता किया है.

भारत में होगी IPhone XR की असेंबलिंग, कंपनी करेगी 2,000 करोड़ रुपये निवेश

एप्पल करेगी भारत में 2 हजार करोड़ का निवेश

मुंबई:

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने सोमवार को कहा कि प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एप्पल ने घरेलू बाजार और निर्यात के लिये आईफोन एक्सआर का उत्पाद शुरू किया है. उन्होंने यह भी कहा कि मोबाइल चार्जर बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी सालकॉम्प अगले साल मार्च से उत्पादन शुरू करेगी. एप्पल को आईफोन के चार्जर की आपूर्ति करने वाली सालकॉम्प ने चेन्नई के समीप सेज में नोकिया की बंद पड़े कारखाना को लेने के लिये समझौता किया है.

कंपनी अगले पांच साल में 2,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. कारखाना करीब 10 साल से बंद है और मार्च 2020 से परिचालन में लाया जाएगा. प्रसाद ने कहा कि इकाई चार्जर और अन्य उपकरण का उत्पादन करेगी. कंपनी इसमें पांच साल में 2,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. प्रसाद ने एप्पल एक्सआर फोन के भारत में विनिर्माण को प्रदर्शित करते हुए, "यह देश के लिये गर्व का क्षण है. पहले इसका डिजाइन कैलीफोर्निया में और असेंबलिंग चीन में होता. अब यह भारत में असेंबल होगा. साथ विनिर्माण और विपणन भी भारत में होगा. हम एप्पल को भारत में अपना परिचालन बढ़ाने के लिये स्वागत करते हैं."

रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि मोबाइल फोन समेत एप्पल के सभी उत्पादों का विनिर्माण भारत में उपयोग के साथ निर्यात भी होगा. एप्पल भारत में ताइवान की कंपनी विस्ट्रोन के साथ काम कर रही है. ताइवान की कंपनी अनुबंध के आधार पर विनिर्माण करती है. एप्पल इसके जरिये आईफोन 6 एस और 7 यहां बना रही है. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)