वेतन लेने वाले ध्यान दें, अगर गलत रिटर्न भरा तो आयकर विभाग उठाएगा यह बड़ा कदम

विभाग ने कहा है कि ऐसे करदाताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी तथा उनके नियोक्ताओं को भी इस संबंध में सूचित किया जाएगा.

वेतन लेने वाले ध्यान दें, अगर गलत रिटर्न भरा तो आयकर विभाग उठाएगा यह बड़ा कदम

आयकर विभाग रिटर्न की जांच करने के बाद करेगा कार्रवाई.

हाइलाइट्स

  • ऐसे करदाताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी
  • रिटर्न में आय कम बताने या कटौती को बढ़ा चढ़ाकर बताते हैं लोग
  • करदाताओं को परामर्श भी जारी किया गया है
नई दिल्ली: कई बार टैक्स बजाने के चक्कर में कई लोग रिटर्न भरते वक्त गलत जानकारी देते हैं. ऐसे रिटर्न भरने वालों को आयकर विभाग ने चेताया है. आयकर विभाग ने वेतनभोगी कर्मचारियों को गलत ​आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करने के प्रति आगाह किया है. विभाग ने कहा है कि ऐसे करदाताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी तथा उनके नियोक्ताओं को भी इस संबंध में सूचित किया जाएगा. विभाग ने ऐसे करदाताओं को अपनी रिटर्न में आय कम बताने या कटौती को बढ़ा चढ़ाकर दिखाने जैसे हथकंडे अपनाने के प्रति आगाह किया है. विभाग के बेंगलुरू स्थित केंद्रीय प्रसंस्करण केंद्र सीपीसी ने इस बारे में करदाताओं को परामर्श भी जारी किया है. इस श्रेणी के करदाताओं से कहा गया है कि गलत लाभ के लिए गलत कर सलाहकारों के चक्कर में नहीं पड़ें.

विभाग के अनुसार रिटर्न में आय कम दिखाना या कटौती बढ़ाचढ़ाकर दिखाना विभिन्न धाराओं के तहत दंडनीय है और आयकर कानून की धाराओं के तहत अभियोजन किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : नया आयकर रिटर्न (ITR) फॉर्म मांग रहा सैलरी की ज्यादा जानकारी | 10 बातें

उल्लेखनीय है कि विभाग की जांच शाखा ने जनवरी में एक ऐसे गिरोह का खुलासा किया था जो कर्मचारियों को फर्जी तरीके से कर रिफंड हासिल करने में मदद करता है. सीबीआई ने हाल ही में इस मामले में आपराधिक मामला दर्ज किया है.

वेतनभोगी करदाताओं के लिए कर दाखिल करने का सत्र हाल ही में शुरू हुआ है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने वेतनभोगी करदाताओं के लिये नये आईटीआर फार्म को हाल ही में अधिसूचित किया. (इनपुट भाषा से)