मंत्री समूह ने एयर इंडिया में विनिवेश के लिये EOI, शेयर खरीद- बिक्री समझौते को मंजूरी दी

मंत्री समूह ने मंगलवार को एयर इंडिया के निजीकरण के लिये बोली लगाने के लिए रुचि पत्र (ईओआई) और शेयर खरीद- बिक्री समझौते के प्रारूप को मंजूरी दे दी

मंत्री समूह ने एयर इंडिया में विनिवेश के लिये EOI, शेयर खरीद- बिक्री समझौते को मंजूरी दी

एयर इंडिया में विनिवेश को मंजूरी

नई दिल्ली:

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता वाले मंत्री समूह ने मंगलवार को एयर इंडिया के निजीकरण के लिये बोली लगाने के लिए रुचि पत्र (ईओआई) और शेयर खरीद- बिक्री समझौते के प्रारूप को मंजूरी दे दी.अधिकारी ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की इस विमानन कंपनी के निजीकरण के लिये जनवरी में ही रुचि पत्र और शेयर खरीद- बिक्री समझौते को जारी कर दिया जाएगा. एयर इंडिया विनिवेश के लिये बनाये गये मंत्री समूह की आखिरी बैठक सितंबर, 2019 में हुई थी.

एयर इंडिया विशिष्ट वैकल्पिक प्रणाली (एआईएसएएम) ने पिछले साल ही विमानन कंपनी में सरकार की शत- प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिये प्रक्रिया को फिर से शुरू करने को मंजूरी दी थी. एयर इंडिया के साथ ही एयर इंडिया एक्सप्रेस और एआईएसएटीएस में उसकी हिस्सेदारी को बेचने की भी मंजूरी दी गई थी. 

गौरतलब है कि एयर इंडिया (Air India) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अश्विनी लोहानी ने हाल ही में कहा था  कि कंपनी के बंद होने को लेकर अफवाहें पूरी तरह आधारहीन हैं. सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया उड़ान भरती रहेगी और परिचालन का विस्तार भी करेगी. सरकार ने एयर इंडिया के विनिवेश का फैसला किया हुआ है. अश्विनी लोहानी ने ट्वीट किया था, 'एयर इंडिया के बंद होने या परिचालन रोके जाने की अफवाहें आधारहीन हैं. एयर इंडिया उड़ान भरती रहेगी और परिचालन का विस्तार भी करेगी. यात्री हों या कॉरपोरेट या एजेंट, किसी को भी चिंता करने की जरूरत नहीं है. एयर इंडिया अभी भी देश की सबसे बड़ी विमानन कंपनी है.'



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com