दूसरी तिमाही में GMR का घाटा बढ़कर हुआ 457 करोड़ रुपये, पहले क्वार्टर में भी कंपनी को लगा था झटका

कंपनी ने गुरूवार को शेयर बाजार को बताया कि समीक्षाधीन तिमाही में उसकी एकीकृत सकल आय 2,018 करोड़ रही. 2018-19 की दूसरी तिमाही में यह आंकड़ा 1,904 करोड़ रुपये था

दूसरी तिमाही में GMR का घाटा बढ़कर हुआ 457 करोड़ रुपये, पहले क्वार्टर में भी कंपनी को लगा था झटका

GMR इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड को 457 करोड़ रुपये का घाटा

हैदराबाद:

जीएमआर (GMR) इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड का एकीकृत शुद्ध घाटा 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में बढ़कर 457 करोड़ रुपये हो गया. एक साल पहले की जुलाई-सितंबर अवधि में उसे 334 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. कंपनी ने गुरूवार को शेयर बाजार को बताया कि समीक्षाधीन तिमाही में उसकी एकीकृत सकल आय 2,018 करोड़ रही. 2018-19 की दूसरी तिमाही में यह आंकड़ा 1,904 करोड़ रुपये था. दूसरी तिमाही में हवाई अड्डा कारोबार से आय 1,494. 7 करोड़ रुपये रही , जो एक साल पहले की इसी तिमाही में 1,315.5 करोड़ रुपये थी. वहीं, बिजली कारोबार में आय 2018-19 की दूसरी तिमाही में 178.2 करोड़ रुपये से गिर कर 2019-20 की इसी तिमाही में 167.4 करोड़ रुपये रह गई.

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में दिल्ली हवाई अड्डे को 135 करोड़ रुपये का नकद मुनाफा दर्ज किया गया. एक साल पहले की सितंबर तिमाही में यह आंकड़ा 88 करोड़ रुपये था. इस दौरान, हैदराबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे ने 217 करोड़ रुपये का नकद मुनाफा कमाया है. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
More News