Profit

Economy News

  • वित्त वर्ष 2012 से लेकर 2018 तक 2 करोड़ लोग हुए बेरोजगार : एनएसएसओ
    राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण कार्यालय (एनएसएसओ) की रिपोर्ट के अनुसार, वित्त वर्ष 2011-12 से लेकर वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान पांच साल में देश में पुरुष कार्यबल में करीब दो करोड़ की कमी आई. एनएसएस की इस रिपोर्ट को हाल ही में सरकार ने दबा दिया. एनएसएसओ की आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण (पीएलएफएस) रिपोर्ट 2017-18 की समीक्षा में बताया गया है कि वर्ष 2017-18 के दौरान सिर्फ 28.6 करोड़ पुरुष देश में रोजगार में थे जबकि 2011-12 में 30.4 करोड़ पुरुष रोजगार में थे. यह समीक्षा अभी सार्वजनिक नहीं हुई है. 
  • खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से फरवरी में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 2.57 प्रतिशत पर पहुंची
    उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति की दर इससे पहले जनवरी में 1.97 प्रतिशत तथा एक साल पहले फरवरी में 4.44 प्रतिशत पर रही थी
  • रुपये ने डॉलर के खिलाफ लगाई पांच वर्षो की सबसे ऊंची कूद, 112 पैसे सुधार
    रुपये की विनिमय दर में पांच साल से भी अधिक समय में यह एक दिन का सबसे बड़ा सुधार है. निर्यातकों और बैंकों द्वारा डॉलर की सतत बिकवाली के साथ साथ अमेरिकी फेडरल रिजर्व की नीतिगत बैठक से पहले वैश्विक स्तर पर प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजोर होने से रुपये को बल मिला.
  • रुपये सर्वकालिक निम्न स्तर से उबरा, 18 पैसे की तेजी 
    मंगलवार को रुपया 33 पैसे की गिरावट के साथ 74.39 प्रति डॉलर के सर्वकालिक निम्न स्तर पर बंद हुआ था. बाजार सूत्रों ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार में तेजी लौटने से भी कारोबारी धारणा में तेजी आई. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक 461.42 अंक अथवा 1.35 प्रतिशत की तेजी के साथ 34,760.89 अंक पर बंद हुआ.
  • सीएनजी और पीएनजी हुई महंगी , सब्सिडी वाले सिलिंडर में मामूली बढ़ोतरी
    पीएनजी में 1.50 रुपये प्रति मानक घन मीटर की वृद्धि की गई है. कीमतों में छमाही आधिकारिक संशोधन के अनुसार, घरेलू प्राकृति गैस का दाम एक अक्टूबर से 3.36 डॉलर प्रति दस लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट (एमबीटीयू) होगा जोकि वर्तमान में 3.06 डॉलर है. उपभोक्ताओं को अब दिल्ली में सीएनजी 44.30 रुपये प्रति किलो और नोएडा, ग्रेटर नोएडा व गाजियाबाद में 51.25 रुपये प्रति किलो मिलेगी.
  • रिजर्व बैंक ने नकदी की स्थिति में सुधार के लिये नियमों में दी ढील 
    आरबीआई ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) को ऋण देने को लेकर बैंकों की चिंताएं बढ़ रही हैं और नकदी प्रवाह के कड़े हालात को लेकर चिंता का माहौल है.आरबीआई ने कहा कि व्यवस्था में टिकाऊ तरलता जरूरतों को पूरा करने को वह तैयार है और विभिन्न उपलब्ध विकल्पों के माध्यम से वह इसे सुनिश्चित करेगा. यह उसके बाजार हालातों और नकदी उपलब्धता का लगातार आकलन करने पर निर्भर करेगा.
  • नौ सार्वजनिक उपक्रमों की संपत्तियां अलग से बेचेगी सरकार
    सरकार ने इनमें से नौ कंपनियों की कुछ परिसंपत्तियों की पहचान की है, जिन्हें अलग-अलग किया जायेगा और फिर अलग-अलग इनका निपटान किया जायेगा. इन नौ कंपनियों में पवन हंस, स्कूटर्स इंडिया, एयर इंडिया, भारत पंप्स एंड कम्प्रेसर्स लिमिटेड, प्रोजेक्ट एंड डेवलपमेंट इंडिया लिमिटेड (पीडीआईएल), हिंदुस्तान फ्रीफैब, हिंदुस्तान न्यूजप्रिंट लिमिटेड, ब्रिज एंड रूफ कंपनी और हिंदुस्तान फ्लोरोकार्बन्स शामिल हैं.
  • जीएसटीआर-1 दाखिल करने की तारीख 31 अक्टूबर तक बढ़ी
    केंद्र सरकार ने सोमवार को जुलाई (2017) से सितंबर (2018) के लिए वस्तु एवं सेवा कर रिटर्न (जीएसटीआर)-1 फॉर्म दाखिल करने की तिथि 31 अक्टूबर तक बढ़ा दी है तथा नई तिथि के अंदर दाखिल करनेवालों का एक बार के देरी शुल्क माफ करने की घोषणा की है. 
  • पेट्रोल, डीजल की कीमतों में एक साल की सबसे बड़ी वृद्धि, रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचे दाम 
    उल्लेखनीय है कि विपक्षी दलों ने अगले सप्ताह ईंधन की ऊंची कीमतों के विरोध में राष्ट्रव्यापी हड़ताल और प्रदर्शन का ऐलान किया है. विपक्ष ने ऊंचे करों को इसकी प्रमुख वजह बताया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत देने के लिए उत्पाद शुल्क में कटौती का कोई संकेत नहीं दिया.
  • शुरुआती सुधार के बाद रुपया 71.95 के नए सर्वकालिक निचले स्तर पर 
    शुरुआती कारोबार में सुधार के लक्षण दिखाने के बाद बुधवार को रुपये में जल्द ही गिरावट देखी गई. डॉलर के मुकाबले यह 21 पैसे टूटकर 71.79 पर पहुंच गया. इसकी अहम वजह बैंकों और आयातकों की ओर से डॉलर की अचानक की गई लिवाली रही.
  • RTI में खुलासा, जीएसटी के विज्ञापन पर सरकार ने खर्च किये 132 करोड़ रुपये से ज्यादा
    वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के विज्ञापन पर सरकार ने 132.38 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत काम करने वाली एक एजेंसी ने एक आरटीआई के जवाब में यह जानकारी दी है. 
  • अगस्त तक दाखिल आयकर रिटर्न में 71% की हुई बढ़ोतरी
    अगस्त 2018 तक दाखिल आयकर रिटर्न की संख्या 5.42 करोड़ है जो 31 अगस्त 2017 में 3.17 करोड़ थी. यह दाखिल रिटर्न की संख्या में 70.86% वृद्धि को दर्शाता है. अगस्त के आखिरी दिन इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से कुल 34.95 लाख रिटर्न दाखिल किए गए. ई-रिटर्न दाखिल करने वालों में वेतनभोगियों और अनुमान आधारित कर योजना का लाभ लेने वालों की संख्या में स्पष्ट इजाफा देखा गया है.
  • डीजल पहली बार 70 रुपये के पार, एलपीजी भी 1.49 रुपये हुआ महंगा
    डीजल के दाम में 28 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है. ईंधन के दाम में दैनिक संशोधन शुरू होने के बाद डीजल के दाम में यह सबसे तीव्र वृद्धि है. दिल्ली में अब एक लीटर डीजल का दाम 70.21 रुपये प्रति लीटर होगा. यहां उल्लेखनीय है कि दिल्ली में देश के चारों महानगरों में ईंधन के दाम सबसे कम होते हैं. पेट्रोल का दाम भी बढ़कर 78.51 रुपये लीटर पर पहुंच गया. सरकार रसोई गैस की सब्सिडी राशि सीधे लाभार्थी के खाते में पहुंचाती है.
  • अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अच्छी खबर, पहली तिमाही में 8.2 प्रतिशत की दर से बढ़ी जीडीपी
    देश की विकास दर में बड़ा उछाल आया है. शुक्रवार को जारी आंकड़े के मुताबिक अप्रैल से जून की पहली तिमाही में 8.2% विकास दर दर्ज की गई है. पिछले साल इस तिमाही में विकास दर 5.6% थी.
  • नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने रुपये के गिरते मूल्य को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा...
    सरकार के लिये रुपये को सुदृढ़ करने के प्रयास करना और कदम उठाना बहुत मुश्किल है. उल्लेखनीय है कि अमेरिकी डालर की मजबूत मांग से रुपया 16 अगस्त को 70.32 रुपये प्रति डालर के अब तक के सबसे निचले स्तर तक गिर गया था. उन्होंने कहा कि आर्थिक नीति में केवल राजकोषीय घाटे के आंकड़े पर ध्यान नहीं देना चाहिए.

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................