Profit
होम | बेंकिंग और फाइनेंशियल

बेंकिंग और फाइनेंशियल

  • कैश की किल्लत: POS मशीन से कैश बांटने की व्यवस्था की गई
    देशभर में कैश की किल्लत के बीच एसबीआई ने बड़ा बयान दिया है. बैंक ने कहा है कि उसकी पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) मशीनों के माध्यम से कैश निकालने पर ग्राहकों से कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा. पीओएस के जरिये प्रतिदिन 1,000 से 2,000 रुपये निकाला जा सकता है.एसबीआई ने देशभर में तमाम व्यापारिक संस्थानों को पीओएस मशीनें दी हैं. बैंक ने एक बयान में कहा कि 'एसबीआई की कुल 6.08 लाख पीओएस मशीनें हैं.
  • 24 घंटे प्रिटिंग प्रेस में चल रही 500, 200 रुपये के नोट की छपाई
    देश के कुछ राज्यों में नकदी की तंगी के बीच सरकार ने नोटों की छपाई का काम तेज कर दिया है. चारों नोट छपाई कारखानों में 24 घंटे काम हो रहा है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि देश में अनुमानित आधार पर 70,000 करोड़ रुपये की नकदी की कमी को पूरा करने के लिए इस हफ्ते मशीनें 500 और 200 रुपये के नोटों की अनवरत छपाई कर रही हैं.
  • जन धन योजना के बाद भी भारत में 19 करोड़ वयस्कों के पास नहीं है कोई बैंक अकाउंट
    देश के करीब 19 करोड़ वयस्कों का कोई बैंक खाता नहीं है, जोकि चीन के बाद दूसरी सबसे बड़ी आबादी है. हालांकि, खाताधारकों की संख्या 2011 के 35 फीसदी से बढ़कर 2017 में 80 फीसदी हो चुकी है. विश्व बैंक की रिपोर्ट में गुरुवार को यह जानकारी दी गई. विश्व बैंक द्वारा गुरुवार को जारी वैश्विक फाइंडेक्स रिपोर्ट में कहा गया कि भारत में वित्तीय समावेशन में तेजी से बढ़ोतरी हो रही और खाताधारकों की संख्या जो 2011 में 35 फीसदी थी और 2014 में 53 फीसदी थी. वह 2017 में बढ़कर 80 फीसदी हो गई है. 
  • RBI ने बैंकों से कहा, बड़े कर्जदार का एक दिन का भी डिफॉल्ट हो तो चूक का खुलासा करना होगा
    भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर एन एस विश्वनाथन ने आज बड़ी संख्या में कर्जदारों द्वारा एक दिन की कर्ज चूक के मामले बढ़ने पर चिंता जताते हुए बैंकों इसे चेतावनी का संकेत के रूप में लेने को कहा जिसपर कार्रवाई करने की जरूरत हो सकती है.
  • ATM पर नोटों की किल्लत: विपक्ष का आरोप 2000 का नोट सिर्फ जमाखोरों के लिए
    नकदी संकट के मुद्दे को लेकर सरकार पर हमला तेज करते हुए विपक्ष ने आज आरोप लगाया कि 2,000 का नोट जमाखोरों की मदद के लिए लाया गया था. वहीं बैंकों ने कहा है कि एटीएम में नकदी की स्थिति सुधरी है. एसबीआई रिसर्च की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रणाली में नकदी की कमी 70,000 करोड़ रुपये की है. यह राशि एटीएम से मासिक निकासी की एक-तिहाई है.
  • कैश की किल्लत: बुधवार को थोड़ी राहत के बीच ग्रामीण इलाकों में अब भी संकट कायम
    मंगलवार को देश के 11 राज्यों में कैश संकट के बाद बुधवार को वित्त मंत्रालय ने सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि वो गुरूवार तक सभी ATMs में उनकी क्षमता का 80% कैश जमा कर दे. बुधवार को कैश संकट का दायरा कुछ कम हुआ लेकिन उत्तर प्रदेश और बिहार के ग्रामीण इलाकों से अब भी कमी की खबर आ रही है. मंगलवार के मुकाबले अलग-अलग शहरों में बुधवार को ATMs में कैश की कमी की शिकायतें कम आयीं. हालांकि उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ ग्रामीण इलाकों में अब भी कैश की किल्लत है. 
  • गुरुवार तक सभी बैंक अपने ATM में उनकी क्षमता का 80% कैश जमा करें : वित्त मंत्रालय
    मंगलवार को देश के 11 राज्यों में कैश संकट के बाद बुधवार को वित्त मंत्रालय ने सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि वो गुरूवार तक सभी ATMs में उनकी क्षमता का 80% कैश जमा कर दे. बुधवार को कैश संकट का दायरा कुछ कम हुआ लेकिन उत्तर प्रदेश और बिहार के ग्रामीण इलाकों से अब भी कैश की कमी की खबर आ रही है.
  • नकदी उपलब्धता में सुधार, काम कर रहे हैं 80% एटीएम: सूत्र
    सूत्रों के अनुसार किसी भी समय औसतन 10-12 प्रतिशत एटीएम की मरम्मत या रख - रखाव चल रहा होता है. सामान्य दिनों में 88 प्रतिशत एटीएम चालू रहते हैं और बाकियों की मरम्मत आदि चल रही होती है. उन्होंने कहा कि वित्त मंत्रालय , रिजर्व बैंक , बैंकों व नकदी की आपूर्ति करने वाली कंपनियों के संयुक्त प्रयासों से स्थिति में काफी सुधार आया है.
  • मानसून सामान्य रहने पर रबीआई घटा सकता है दरें
    गौरतलब है कि मौसम विभाग के अनुसार देश में इस बार मानसून सामान्य रहने का अनुमान लगाया जा रहा है. मानसून दीर्घकालिक औसत के हिसाब से 97 प्रतिशत रहेगा जिसे सामान्य माना जाता है. जून से सितंबर तक की चार महीने की मानसून अवधि में वर्ष के दौरान होने वाली कुल वर्षा का करीब 75 प्रतिशत बरस जाता है.
  • भारत में निवेश प्रभावित कर सकते हैं. अटके बकाये : IMF
    अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ IMF) ने कहा कि लटके हुये कॉरपोरेट कर्ज बढ़ने और बैंकिंग क्षेत्र की ऋण की गुणवत्ता को लेकर चिंता भारत में निवेश को झटका दे सकती है. लटके कार्पोरेट कर्ज मामले में आईएमएफ का इशारा पंजाब नेशनल बैंक घोटाले की ओर लगता है, जिसका सूत्रधार आभूषण कारोबारी नीरव मोदी है.
  • बैंकों के एटीएम क्यों हो गए खाली, यह है सबसे बड़ा कारण
    एटीएम को 200 रुपये के नोट के अनुकूल बनाने में देरी देश के कुछ हिस्सों में नकदी संकट की एक वजह है. सूत्रों ने कहा कि रिजर्व बैंक द्वारा 200 रुपये का नोट पेश किए जाने के बाद एटीएम को इसके अनुकूल बनाने का फैसला किया गया. सूत्रों ने बताया कि यह अभियान तुरंत शुरू हो गया लेकिन देश के कुछ हिस्सों में इसमें देरी हुई.
  • सीबीआई ने फर्म निदेशकों, दुबई-पटियाला की कंपनी के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया
    केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने 621 करोड़ रुपये की बैंक धोखाधड़ी के आरोप में सूर्या फार्मास्युटिकल्स, उसके निदेशकों और पटियाला एवं दुबई की तीन कंपनियों के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. सीबीआई अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. सूर्या फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड, उसके प्रवर्तकों और निदेशकों राजीव गोयल और अल्का गोयल के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत आपराधिक षड्यंत्र, धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े के आरोप में मामला दर्ज किया है.
  • बैंक घोटालों से लोगों का विश्वास डोला, अब संसदीय समिति ने किया RBI गवर्नर को तलब
    संसद की एक समिति ने रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल को 17 मई को उसके समक्ष पेश होने को कहा है. सूत्रों का कहना है कि समिति गवर्नर से हाल में सामने आए बैंकिंग घोटालों और बढ़ती गैर निष्पादित आस्तियों पर सवाल पूछेगी. वरिष्ठ कांग्रेस नेता एम वीरप्पा मोइली की अगुवाई वाली वित्त पर संसद की स्थायी समिति ने आज वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार से बैंकिंग क्षेत्र पर कई सवाल पूछे.
  • सरकार ने कहा, 500 के नोट की छपाई का काम पांच गुना किया जाएगा
    सरकार ने कहा कि रिजर्व बैंक 500 रुपये के नोट की छपाई के काम में पांच गुना तेजी लाएगा. रिजर्व बैंक ने देश के कुछ हिस्सों में नकदी की कमी के मद्देनजर यह कदम उठाने का फैसला किया है. माना जा रहा है कि ऊंचे मूल्य के नोटों की जमाखोरी की वजह से यह संकट पैदा हुआ है. आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि सरकार को संदेह है कि 2,000 के नोट की जमाखोरी हो रही है और वे चलन में तेजी से वापस नहीं आ रहे हैं.
  • दूसरे दिन भी रही एटीएम के कैशलैस होने की दिक्कत, लगे हैं नो कैश के बोर्ड
    इस बीच वित्त मंत्रालय का कहना है कि बाज़ार में पर्याप्त से ज़्यादा नक़दी है. अचानक डिमांड की वजह से कुछ राज्यों में कमी है, जिसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा.

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................