This Article is From Jul 06, 2018

बैंक आफ बड़ौदा ने ब्याज दर 0.05 प्रतिशत बढ़ायी, लोन हुआ महंगा

कोष की सीमांत लागत में वृद्धि तथा ब्याज दर के बढ़ते परिदृश्य को देखते हुए यह कदम उठाया गया है.

बैंक आफ बड़ौदा ने ब्याज दर 0.05 प्रतिशत बढ़ायी, लोन हुआ महंगा

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आफ बड़ौदा (बीओबी) ने कोष की सीमांत लागत आधारित कर्ज पर ब्याज दर (एमसीएलआर) में 0.05 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है. यह वृद्धि सात जुलाई से प्रभाव में आ गई है. बैंक ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि उसने विभिन्न अवधि वाले कर्ज के लिये एमसीएलआर आधारित ब्याज दर में संशोधन किया है. बीओबी ने कहा , ‘‘कोष की सीमांत लागत में वृद्धि तथा ब्याज दर के बढ़ते परिदृश्य को देखते हुए यह कदम उठाया गया है. ’’    

इस बढ़ोतरी के बाद एक दिन , एक महीने , तीन महीने , छह महीने तथा एक साल की अवधि के कर्ज पर ब्याज दर 0.05 प्रतिशत बढ़ जाएगा. फिलहाल एक दिन , एम महीने , तीन महीने , छह महीने तथा एक साल की अवधि के कर्ज पर ब्याज दर क्रमश : 8 प्रतिशत , 8.5 प्रतिशत , 8.15 प्रतिशत , 8.35 प्रतिशत तथा 8.50 प्रतिशत है. इस बढ़ोतरी से वाहन , आवास एवं व्यक्तिगत कर्ज समेत खुदरा ऋण महंगे होंगे.

बता दें कि सार्वजनिक क्षेत्र के विजया बैंक ने कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर बुधवार को 0.5 प्रतिशत तक बढ़ाने की घोषणा की. विजया बैंक ने शेयर बाजारों को यह जानकारी दी है. इसके अनुसार ब्याज दर में यह बदलाव पांच जुलाई 2018 से प्रभावी होगा. इसके तहत तीन साल की अवधि वाले कर्ज के लिए उधारी दर अब 0.50 प्रतिशत बढ़कर 9.25% हो जाएगी.

इससे पहले सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक ने कोष की सीमांत लागत आधारित ऋण की ब्याज दर (एमसीएलआर) में 0.10% तक की वृद्धि की है. शेयर बाजार को दी जानकारी में बैंक ने बताया कि यह दरें 1 जुलाई से प्रभावी हो गई हैं. बैंक ने छह माह की अवधि के ऋण की ब्याज दर में 0.10% वृद्धि की है जो अब 8.40% हो गई है.