ऑटोमोबाइल सेक्टर में लगातार 11वें महीने रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई

सबसे ज्यादा 62.11 फीसदी की गिरावट कामर्शियल गाड़ियों की बिक्री में, नवरात्र के दौरान वाहनों की बिक्री में कुछ सुधार हुआ

ऑटोमोबाइल सेक्टर में लगातार 11वें महीने रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

संकट से जूझ रहे ऑटोमोबाइल सेक्टर में गिरावट का दौर जारी है. सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मेन्युफैक्चरर्स ने  सितम्बर के ताज़ा आंकड़े जारी करते हुए कहा कि ऑटो सेक्टर में प्रोडक्शन और बिक्री में लगातार 11वें महीने रिकॉर्ड गिरावट दर्ज़ की गई है. हालांकि नवरात्र के 10-12 दिनों में गाड़ियों की बिक्री में कुछ सुधार जरूर दर्ज हुआ है.

सितंबर में भी गाड़ियों की बिक्री घटती रही. यह लगातार 11वां महीना है जब मंदी की मार झेलता ऑटोमोबाइल सेक्टर गाड़ियों की घटती बिक्री से परेशान है. सोमवार को सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मेन्युफैक्चरर्स यानी SIAM के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजन वढेरा ने ताज़ा आंकड़े जारी किए जिनके मुताबिक ऑटो सेक्टर में संकट जारी है. इस साल सितम्बर में पिछले साल के मुकाबले पैसेंजर कारों की बिक्री 33.40 प्रतिशत घट गई है. इस दौरान स्कूटरों की बिक्री 16.60 फीसद घटी है. मोटरसाइकिल की बिक्री में 23.29 प्रतिशत गिरावट दर्ज़ हुई है.
सबसे ज्यादा 62.11 फीसदी की गिरावट कामर्शियल गाड़ियों की बिक्री में दर्ज की गई है.

हालांकि  पिछले साल के मुकाबले इस साल नवरात्र के दौरान गाड़ियों की बिक्री कुछ सुधरी है जो ऑटो  सेक्टर के लिए राहत की खबर है.

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मेन्युफैक्चरर्स के अध्यक्ष राजन वढेरा ने कहा कि नवरात्र के दौरान रिटेल सेल्स अच्छी हुई है. पिछले साल के मुकाबले इस साल सितम्बर में रिटेल सेल में 8 से 10 प्रतिशत का सुधार हुआ है. सेंटीमेंट इम्प्रूव हो रहा है. फेस्टिव सीजन मोमेंटम दे रहा है.

मंदी से उबरने की कोशिश में ऑटो कंपनियों ने इस साल डिस्काउंट भी अच्छे दिए हैं. लेकिन गाड़ियों की बिक्री में यह सुधार क्या इस सीजन के बाद भी जारी रहेगा, इस पर तस्वीर अभी साफ नहीं है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि उन्होंने देश भर के ऑटोमोबाइल सेक्टर से बात की. दो बार वे उन्हें दिल्ली में हमिले. ऑटोमोबाइल क्षेत्र के लिए उपभोक्ताओं की मांग को रिवाइव नहीं किया गया है. यदि यह क्षेत्र कुछ भी चाहता है तो हमेशा मुझसे बात कर सकता है.

यह लगातार ग्यारहवां महीना है जब ऑटो सेक्टर में गाड़ियों की बिक्री में गिरावट दर्ज़ हुई है. ऑटो सेक्टर में ये अब तक का सबसे लम्बा स्लोडाउन है. अब देखना महत्वपूर्ण होगा कि सरकार ने पिछले कुछ हफ़्तों में जो कदम उठाए हैं उसका ऑटो सेक्टर पर कब तक असर दिखना शुरू होता है.

More News