प्राइम टाइम : कोविंद कहीं प्रतीक राष्ट्रपति तो नहीं होंगे?

PUBLISHED ON: June 19, 2017 | Duration: 40 min, 39 sec

   
loading..
भारत की राजनीति में दो चार ही बड़े मास्टर स्ट्रोक हैं. महिला, मुस्लिम, दलित और पिछड़ा. अनुसूचित जनजाति का कार्ड कम ही चलता है. हो सकता है उप राष्ट्रपति पद के लिए बचा कर रखा गया हो. 2017 की तरह 1997 में एक ऐसा ही मास्टर स्ट्रोक कांग्रेस ने चला था जब के आर नारायणन का नाम राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर घोषित हुआ था. बीजेपी से लेकर संयुक्त मोर्चा तक ने उनकी उम्मीदवारी का समर्थन किया था. क्या कांग्रेस अब बीजेपी को रिटर्न गिफ्ट देगी. वो एक ऐतिहासिक घड़ी थी, पहली बार कोई दलित भारत के गणतंत्र के शिखर पर बैठने जा रहा था.
ALSO WATCH
दिल्ली: बवाना विधानसभा उपचुनाव के लिए कल होगा मतदान
................... Advertisement ...................

................................ Advertisement ................................