2014 के सियासी घमासान की तैयारी

PUBLISHED ON: May 20, 2013 | Duration: 47 min, 49 sec

   
loading..
राजनीति वह फैक्ट्री है जिसमें अतीत का ही माल बनता रहता है। नया हो या पुराना सब पर अतीत का लेबल। साज़िश, सीबीआई, दंगे, हत्याएं, भ्रष्टाचार के आरोप रुटीन बन जाते हैं।
ALSO WATCH
प्राइम टाइम : आज सरकारोत्सव है, विज्ञापनों की भरमार है, दावों से भरा संसार है

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................