You are here: Home» Video»
  • Video
Invite friends to watch

मुजफ्फरनगर दंगों पर जारी है सियासत

email

loading..

पीढ़ियों से एक हैं हम... सदियां हैं गवाह... साथ रहना, साथ चलना गलियां हैं गवाह... आज के अखबारों में यूपी सूचना एवं जनसपंर्क विभाग के विज्ञापन के आखिर में छपे इस शेर को पढ़कर अच्छा लगा लेकिन अपील और मरहम की यह ज़ुबान भी अब रस्मी लगने लगी है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement